पद्म पुरस्कार 2020 की पूरी सूची हिंदी में (पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्म श्री) : Download Free PDF
पद्म पुरस्कार 2020 की पूरी सूची हिंदी में (पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्म श्री) : Download Free PDF

Complete List of Padma Awards 2020 in Hindi

Download Complete List of Padma Awards 2020 in Hindi for Bank, SSC, Railway and UPSC Exams. List of Padma Awards 2020 PDF in Hindi. देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कारों में से एक, तीन श्रेणियों, पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्म श्री से सम्मानित किया जाता है। ये पुरस्कार भारत के राष्ट्रपति द्वारा प्रत्येक वर्ष मार्च / अप्रैल के आसपास राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में प्रदान किए जाते हैं। यदि आप बैंकिंग, एसएससी, रेलवे, पीसीएस और यूपीएससी परीक्षा और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, तो आपको कुछ प्रश्न मिल सकते हैं। पद्म पुरस्कार 2020 से संबंधित। पद्म पुरस्कार 2020 की हालिया सूची पर आधारित प्रश्न कई प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के सामान्य जागरूकता खंड का एक हिस्सा है।

राष्ट्रपति द्वारा ये पुरस्कार राष्ट्रपति भवन में आमतौर पर हर साल मार्च/अप्रैल के आसपास आयोजित एक समारोह में प्रदान किए जाते है। इस वर्ष राष्ट्रपति ने 4 युगल मामलों (एक युगल मामलों का मतलब एक पुरस्कार) सहित नीचे दी गई सूची के अनुसार 141 पद्म पुरस्कार प्रदान करने को मंजूरी दी है। इस सूची में 7 पद्म विभूषण, 16 पद्म भूषण और 118 पद्मश्री पुरस्कार शामिल हैं। पुरस्कार पाने वालों में 33 महिलाएं हैं। इस सूची में विदेशियों की श्रेणी के 18 व्यक्तियों/एनआरआई/पीआईओ/ओसीआई और 12 मरणोपरांत पुरस्कार पाने वाले भी शामिल हैं।

पद्म पुरस्कार 2020 की पूरी सूची हिंदी में (Padma Awards 2020 in Hindi)

कुछ सबसे महत्वपूर्ण बिंदुओं के साथ पद्म पुरस्कार 2020 पीडीएफ की हालिया पूर्ण सूची पर आधारित प्रश्न, जनरल अवेयरनेस सेक्शन में आपके ज्ञान की परीक्षा है। आज हम आपको पीडीएफ प्रारूप में पद्म पुरस्कार 2020 की पूर्ण सूची पर एक लेख प्रदान कर रहे हैं। आगामी परीक्षाओं में एक या दो प्रश्न अपेक्षित हैं।

देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कारों में से एक पद्म पुरस्कार तीन श्रेणियों, पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्मश्री में प्रदान किया जाता है। ये पुरस्कार विभिन्न विषयों/गतिविधियों के क्षेत्रों, अर्थात- कला, सामाजिक कार्य, सार्वजनिक मामले, विज्ञान एवं इंजीनियरिंग, व्यापार एवं उद्योग, चिकित्सा, साहित्य और शिक्षा, खेल, नागरिक सेवा आदि में प्रदान किए जाते हैं। ‘पद्म विभूषण’ असाधारण और विशिष्ट सेवा के लिए, ‘पद्म भूषण’ उच्च क्रम की विशिष्ट सेवा के लिए और ‘पद्मश्री’ किसी क्षेत्र में विशिष्ट सेवा के लिए प्रदान किए जाते हैं। यह पुरस्कार हर साल गणतंत्र दिवस के अवसर पर घोषित किए जाते हैं। पुरस्कार तीन श्रेणियों में दिए जाते हैं:-

  • पद्म विभूषण – “असाधारण और विशिष्ट सेवाओं के लिए”। यह दूसरा सबसे बड़ा नागरिक पुरस्कार है।
  • पद्म भूषण – “उच्च-क्रम की प्रतिष्ठित सेवा के लिए”। यह तीसरा सबसे बड़ा नागरिक पुरस्कार है।
  • पद्म श्री – “प्रतिष्ठित सेवाओं के लिए”। यह चौथा उच्चतम नागरिक पुरस्कार है।

Padma Awards 2020 in Hindi : पद्म विभूषण (7)

क्रम संख्या नाम क्षेत्र राज्य/देश
1 श्री जॉर्ज फर्नांडिज (मरणोपरांत) राजनीति बिहार
2 श्री अरुण जेटली (मरणोपरांत) राजनीति दिल्ली
3 श्री अनिरुद्ध जगन्नाथ जीसीएसके राजनीति मॉरीशस
4 श्रीमती एम सी मैरीकॉम खेल मणिपुर
5 श्री छन्नू लाल मिश्र कला उत्तर प्रदेश
6 श्रीमती सुषमा स्‍वराज (मरणोपरांत) राजनीति दिल्ली
7 श्री विश्वेशतीर्थ स्वामीजी श्री पजवरा अधोखज मठ उडुपी (मरणोपरांत) अन्य-आध्यात्मिकता कर्नाटक

Padma Awards 2020 in Hindi : पद्म भूषण (16)

क्रम संख्या नाम क्षेत्र राज्य/देश
8 श्री एम. मुमताज अली (श्री एम) अन्य-आध्यात्मिकता केरल
9 श्री सैय्यद मुअज्‍़ज़ीम अली (मरणोपरांत) राजनीति बांग्‍लादेश
10 श्री मुज़फ्फर हुसैन बेग राजनीति जम्मू एवं कश्मीर
11 श्री अजॉय चक्रवर्ती कला पश्चिम बंगाल
12 श्री मनोज दास साहित्य एवं शिक्षा पुदुचेरी
13 श्री बालकृष्ण दोशी अन्य वास्तुकला गुजरात
14 सुश्री कृष्णम्मल जगन्नाथन सामाजिक कार्य तमिलनाडु
15 श्री एस.सी. जमीर राजनीति नगालैंड
16 श्री अनिल प्रकाश जोशी सामाजिक कार्य उत्तराखंड
17 डा. त्सेरिंग लेंडोल चिकित्सा लद्दाख
18 श्री आनन्द महिन्द्रा व्यापार एवं उद्योग महाराष्ट्र
19 श्री नीलकण्ठ रामकृष्ण माधव मेनन (मरणोपरांत) राजनीति केरल
20 श्री मनोहर गोपालकृष्ण प्रभु पर्रिकर (मरणोपरांत) राजनीति गोवा
21 प्रो. जगदीश सेठ साहित्य एवं शिक्षा अमेरिका
22 सुश्री पी वी सिंधू खेल तेलंगाना
23 श्री वेणु श्रीनिवासन व्यापार एवं उद्योग तमिलनाडु

Padma Awards 2020 in Hindi : पद्मश्री (118)

क्रम संख्या नाम क्षेत्र राज्य/देश
24 गुरु शशाधर आचार्य कला झारखंड
25 डॉ. योगी एरॉन चिकित्सा उत्तराखंड
26 श्री जयप्रकाश अग्रवाल व्यापार एवं उद्योग दिल्ली
27 श्री जगदीश लाल आहूजा सामाजिक कार्य पंजाब
28 श्री काज़ी मासूम अख्तर साहित्य एवं शिक्षा पश्चिम बंगाल
29 सुश्री ग्‍लौरिया अरिएैरा साहित्य एवं शिक्षा ब्राजील
30 श्री खान जहीर खान बख्तियार खान खेल महाराष्ट्र
31 डा. पद्मावति बंदोपाध्याय चिकित्सा उत्तर प्रदेश
32 डा. सुशोवन बनर्जी चिकित्सा पश्चिम बंगाल
33 डा. दिगम्बर बेहरा चिकित्सा चंडिगढ़
34 डा. दमयंती बेसरा साहित्य एवं शिक्षा ओडिशा
35 श्री पवार पोपटराव भगुजी सामाजिक कार्य महाराष्ट्र
36 श्री हिम्मत राम भंभु सामाजिक कार्य राजस्थान
37 श्री संजीव भीखचंदानी व्यापार एवं उद्योग उत्तर प्रदेश
38 श्री गफूर भाई एम. बिलाखिया व्यापार एवं उद्योग गुजरात
39 श्री बॉब ब्लैकमेन राजनीति ब्रिटेन
40 सुश्री इंदिरा पी. पी. बोरा कला असम
41 श्री मदन सिंह चौहान कला छत्तीसगढ़़
42 सुश्री ऊषा चौमार सामाजिक कार्य राजस्थान
43 श्री लील बहादुर छेत्री साहित्य एवं शिक्षा असम
44 सुश्री ललीता एवं सुश्री सरोज चिदम्बरम (युगल)* कला तमिलनाडु
45 डा. वजीरा चित्रसेन कला श्रीलंका
46 डा. पुरुषोत्तम दधीच कला मध्य प्रदेश
47 श्री उत्सव चरणदास कला ओडिशा
48 प्रो. इंदिरा दासनायके (मरणोपरांत) साहित्य एवं शिक्षा श्रीलंका
49 श्री एच.एम. देसाई साहित्य एवं शिक्षा गुजरात
50 श्री मनोहर देवदास कला तमिलनाडु
51 सुश्री ओइनाम बेमबिम देवी खेल मणिपुर
52 सुश्री लिया दिसकिन सामाजिक कार्य ब्राजील
53 श्री ए.पी. गणेश खेल कर्नाटक
54 डा. बंगलोर गंगाधर चिकित्सा कर्नाटक
55 डा. रमण गंगाखेडकर विज्ञान एवं इंजीनियरिंग महाराष्ट्र
56 श्री बेरी गार्डिनर राजनीति ब्रिटेन
57 श्री चेवांग मोनुप गोबा व्यापार एवं उद्योग लद्दाख
58 श्री भरत गोयनका व्यापार एवं उद्योग कर्नाटक
59 श्री यादला गोपालराव कला आंध्र प्रदेश
60 श्री मित्रभानु गोंटिया कला ओडिशा
61 सुश्री तुलसी गौडा सामाजिक कार्य कर्नाटक
62 श्री सुजॉय के. गुहा विज्ञान एवं इंजीनियरिंग बिहार
63 श्री हरिकला हजब्‍बा सामाजिक कार्य कर्नाटक
64 श्री इनामुल हक अन्य-पुरातत्व बांग्लादेश
65 श्री मधु मंसूरी हसमुख कला झारखंड
66 श्री अब्‍दुल जब्‍बार (मरणोपरांत) सामाजिक कार्य मध्‍य प्रदेश
67 श्री बिमल कुमार जैन सामाजिक कार्य बिहार
68 सुश्री मीनाक्षी जैन साहित्य एवं शिक्षा दिल्ली
69 श्री नेमनाथ जैन व्यापार एवं उद्योग मध्य प्रदेश
70 सुश्री शांति जैन कला बिहार
71 श्री सुधीर जैन विज्ञान एवं इंजीनियरिंग गुजरात
72 श्री बेनीचंद्र जमातिया साहित्य एवं शिक्षा त्रिपुरा
73 श्री के. वी. संपथ कुमार एवं सुश्री विदुषी जयलक्ष्मी के. एस. (युगल)* साहित्य एवं शिक्षा – पत्रकारिता कर्नाटक
74 श्री करण जौहर कला महाराष्ट्र
75 डा. लीला जोशी चिकित्‍सा मध्य प्रदेश
76 सुश्री सरिता जोशी कला महाराष्ट्र
77 श्री सी कमलोआ साहित्य एवं शिक्षा मिजोरम
78 डा. रवि कन्‍नन आर. चिकित्सा असम
79 सुश्री एकता कपूर कला महाराष्ट्र
80 श्री याज़दी नाओश्रीवान करंजिया कला गुजरात
81 श्री नारायण जे. जोशी करायल साहित्य एवं शिक्षा गुजरात
82 डा. नरिन्दर नाथ खन्ना चिकित्सा उत्‍तर प्रदेश
83 श्री नवीन खन्ना विज्ञान एवं इंजीनियरिंग दिल्ली
84 श्री एस. पी. कोठारी साहित्य एवं शिक्षा अमरीका
85 श्री वी.के. मनुसामी कृष्णा पख्‍़तहर कला पुदुचेरी
86 श्री एम. के. कुंजोल सामाजिक कार्य केरल
87 श्री मनमोहन महापात्रा (मरणोपरांत) कला ओडिशा
88 उस्ताद अनवर खान मंगनियार कला राजस्थान
89 श्री कट्टुंगल सुब्रमण्यम मनिलाल विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केरल
90 श्री मुन्ना मास्टर कला राजस्थान
91 प्रो. अभिराज राजेन्द्र मिश्र साहित्य एवं शिक्षा हिमाचल प्रदेश
92 सुश्री बीनापाणि मोहंती साहित्य एवं शिक्षा ओडिशा
93 डॉ. अरुणोदय मंडल चिकित्सा पश्चिम बंगाल
94 डा. पृथविन्द्र मुखर्जी साहित्य एवं शिक्षा फ्रांस
95 श्री सत्यनाराण मुंडयूर सामाजिक कार्य अरुणाचल प्रदेश
96 श्री मणिलाल नाग कला पश्चिम बंगाल
97 श्री एन. चन्द्रशेखरण नायर साहित्य एवं शिक्षा केरल
98 डा. तेत्सू नकामूरा (मरणोपरांत) सामाजिक कार्य अफगानिस्तान
99 श्री शिवदत्त निर्मोही साहित्य एवं शिक्षा जम्मू एवं कश्मीर
100 श्री पु. ललबियाकथंगा पचुआऊ साहित्य एवं शिक्षा-पत्रकारिता मिजोरम
101 सुश्री मुझिक्कल पंकजाक्षी कला केरल
102 डा. प्रसंत कुमार पटनायक साहित्य एवं शिक्षा अमरीका
103 श्री जोगेन्द्र नाथ फुकन साहित्य एवं शिक्षा असम
104 सुश्री रहिबाई सोम पोपेरे अन्य-कृषि महाराष्ट्र
105 श्री योगेश प्रवीण साहित्य एवं शिक्षा उत्तर प्रदेश
106 श्री जीतू राय खेल उत्तर प्रदेश
107 श्री तरुणदीप राय खेल सिक्किम
108 श्री एस. रामाकृष्णन सामाजिक कार्य तमिलनाडु
109 सुश्री रानी रामपाल खेल हरियाणा
110 सुश्री कंगना रनौत कला महाराष्ट्र
111 श्री दलवई चलापतिराव कला आंध्र प्रदेश
112 श्री शाहबुद्दीन राठौर साहित्य एवं शिक्षा गुजरात
113 श्री कल्याण सिंह रावत सामाजिक कार्य उत्तराखंड
114 श्री चिंतला वेंकट रेड्डी अन्य-कृषि तेलंगाना
115 श्रीमती डा. शांति राय चिकित्सा बिहार
116 श्री राधममोहन एवं सुश्री सबरमती (युगल)* अन्य-कृषि ओडिशा
117 श्री बताकृष्णा साहू अन्य-पशुपालन ओडिशा
118 सुश्री त्रिनिति साईऊ अन्य-कृषि मेघालय
119 श्री अदनान सामी कला महाराष्ट्र
120 श्री विजय संकेश्वर व्यापार एवं उद्योग कर्नाटक
121 डा. कुशल कुंवर सर्मा चिकित्सा असम
122 श्री सैय्यद महबूब शाह कादरी ऊर्फ सैय्यद भाई सामाजिक कार्य महाराष्ट्र
123 श्री मोहम्मद शरीफ सामाजिक कार्य उत्तर प्रदेश
124 श्री श्‍याम सुंदर शर्मा कला बिहार
125 डा. गुरदीप सिंह चिकित्सा गुजरात
126 श्री रामजी सिंह सामाजिक कार्य बिहार
127 श्री वशिष्ठ नारायण सिंह (मरणोपरांत) विज्ञान एवं इंजीनियरिंग बिहार
128 श्री दया प्रकाश सिन्हा कला उत्तर प्रदेश
129 डॉ. सान्द्र देसा सौजा चिकित्सा महाराष्‍ट्र
130 श्री विजयसारथी श्रीभाष्यम साहित्य एवं शिक्षा तेलंगाना
131 श्रीमती कली शाबी महबूब एवं श्री शेक महबूब सुबानी (युगल)* कला तमिलनाडु
132 श्री जावेद अहमद टॉक सामाजिक कार्य जम्मू एवं कश्मीर
133 श्री प्रदीप थलाप्पिल विज्ञान एवं इंजीनियरिंग तमिलनाडु
134 श्री येशे दोरजी थॉन्गची साहित्य एवं शिक्षा अरुणाचल प्रदेश
135 श्री रॉबर्ट थर्मन साहित्य एवं शिक्षा अमेरिका
136 श्री अगस इंद्रा उद्यन सामाजिक कार्य इंडोनेशिया
137 श्री हरीश चंद्र वर्मा विज्ञान एवं इंजीनियरिंग उत्तर प्रदेश
138 श्री सुंदरम वर्मा सामाजिक कार्य राजस्थान
139 डा. रोमेश टेकचंद वाधवानी व्यापार एवं उद्योग अमेरिका
140 श्री सुरेश वाडकर कला महाराष्ट्र
141 श्री प्रेम वत्स व्यापार एवं उद्योग कनाडा

नोट– *युगल मामले में पुरस्‍कार की गणना एक मानी जाती है।

पद्म पुरस्कारों के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य

पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्म श्री भारत सरकार द्वारा दिए गए तीन अलग-अलग पुरस्कार हैं जो गतिविधियों या विषयों के सभी क्षेत्रों में उपलब्धियों को पहचानना चाहते हैं जहां सार्वजनिक सेवा का एक तत्व शामिल है। पद्म पुरस्कार वर्ष 1954 में स्थापित किए गए थे, और हर साल गणतंत्र दिवस के अवसर पर 1978 और 1979 और 1993 से 1997 के दौरान संक्षिप्त रुकावट को छोड़कर इसकी घोषणा की जाती है।

पद्म पुरस्कार के लिए लोगों को कैसे नामित किया जाता है?

राज्य सरकारें, केंद्रशासित प्रदेश प्रशासन, केंद्रीय मंत्रालय और विभाग, उत्कृष्टता संस्थान आदि पद्म पुरस्कारों के लिए सिफारिशें प्रस्तुत करते हैं। ये नामांकन तब एक पुरस्कार समिति द्वारा विचार किए जाते हैं जो अपनी सिफारिशें देते हैं। पद्म पुरस्कार समिति का गठन हर साल प्रधानमंत्री द्वारा किया जाता है। पुरस्कार तीन श्रेणियों में दिए जाते हैं: पद्म विभूषण (असाधारण और विशिष्ट सेवा के लिए), पद्म भूषण (उच्च क्रम की विशिष्ट सेवा) और पद्म श्री (प्रतिष्ठित सेवा)।

यहां बताया गया है कि तीन पद्म पुरस्कार एक-दूसरे से कैसे भिन्न हैं।

पद्म विभूषण: यह भारत का दूसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान है जो सरकारी सेवकों द्वारा प्रदान की गई सेवा सहित किसी भी क्षेत्र में असाधारण और विशिष्ट सेवा के लिए दिया जाता है। भारत में सर्वोच्च पुरस्कार भारत रत्न है। पद्म विभूषण भारतीय गणराज्य का दूसरा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार है, जो भारत रत्न के बाद दूसरा है। 2 जनवरी 1954 को आयोजित, यह पुरस्कार “असाधारण और विशिष्ट सेवा” के लिए दिया जाता है, दौड़, व्यवसाय, स्थिति या लिंग के भेद के बिना। पुरस्कार मानदंड में “सरकारी सेवकों द्वारा प्रदान की गई सेवा सहित किसी भी क्षेत्र में सेवा” शामिल है, जिसमें डॉक्टर और वैज्ञानिक शामिल हैं, लेकिन सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के साथ काम करने वालों को छोड़कर। 2019 तक, पुरस्कार 307 व्यक्तियों को दिया गया है, जिनमें बारह मरणोपरांत और 20 गैर-नागरिक प्राप्तकर्ता शामिल हैं।

पुरस्कार के पहले प्राप्तकर्ता सत्येंद्र नाथ बोस, नंद लाल बोस, ज़ाकिर हुसैन, बालासाहेब गंगाधर खेर, जिग्मे दोरजी वांगचुक और वीके कृष्ण मेनन थे, जिन्हें 1954 में सम्मानित किया गया था। 1954 के क़ानून ने मरणोपरांत पुरस्कारों की अनुमति नहीं दी थी, लेकिन बाद में इसे संशोधित किया गया। जनवरी 1955 के क़ानून में। “पद्म विभूषण”, अन्य व्यक्तिगत नागरिक सम्मानों के साथ, जुलाई 1977 से जनवरी 1980 तक और अगस्त 1992 से दिसंबर 1995 तक दो बार संक्षिप्त रूप से निलंबित किया गया।

पद्म भूषण: यह पुरस्कार राष्ट्र को एक उच्च आदेश की विशिष्ट सेवा को मान्यता देने के लिए दिया जाता है। पद्म भूषण भारत गणराज्य में तीसरा सबसे बड़ा नागरिक पुरस्कार है, जो भारत रत्न और पद्म विभूषण से पहले है और इसके बाद पद्म श्री। 2 जनवरी 1954 को आयोजित, यह पुरस्कार “दौड़, व्यवसाय, स्थिति या लिंग के भेद के बिना” एक उच्च क्रम की विशिष्ट सेवा के लिए दिया जाता है। “पुरस्कार के मानदंड में” सरकारी सेवकों द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवा शामिल है “जिसमें डॉक्टर भी शामिल हैं। वैज्ञानिक, लेकिन सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के साथ काम करने वालों को बाहर करते हैं। 2019 तक, पुरस्कार 1254 व्यक्तियों को दिया गया है, जिसमें इक्कीस मरणोपरांत और निन्यानवे गैर-नागरिक प्राप्तकर्ता शामिल हैं।

पद्म श्री: यह सरकारी सेवकों द्वारा प्रदान की गई सेवा सहित किसी भी क्षेत्र में प्रतिष्ठित सेवा द्वारा दिया जाता है। पद्म श्री (पद्म श्री भी) भारत रत्न, पद्म विभूषण और पद्म भूषण के बाद भारत गणराज्य में चौथा सबसे बड़ा नागरिक पुरस्कार है। यह भारत सरकार द्वारा हर साल भारत के गणतंत्र दिवस पर प्रदान किया जाता है। पद्म पुरस्कार की स्थापना 1954 में भारत के नागरिकों को कला, शिक्षा, उद्योग, साहित्य, विज्ञान, खेल, चिकित्सा, सामाजिक सेवा और सार्वजनिक मामलों सहित विभिन्न क्षेत्रों में उनके विशिष्ट योगदान के सम्मान में की गई थी। यह कुछ प्रतिष्ठित व्यक्तियों को भी दिया गया है, जो भारत के नागरिक नहीं थे, लेकिन उन्होंने भारत में विभिन्न तरीकों से योगदान दिया।

विभिन्न क्षेत्र जिनके लिए पद्म पुरस्कार दिए जाते हैं- पद्म पुरस्कारों की सरकारी वेबसाइट के अनुसार, यहाँ उन क्षेत्रों की सूची दी गई है जिन्हें पद्म पुरस्कारों के लिए माना जाता है:

  • कला (संगीत, चित्रकारी, मूर्तिकला, फोटोग्राफी, सिनेमा, रंगमंच आदि)
  • सामाजिक कार्य (सामाजिक सेवा, धर्मार्थ सेवा, सामुदायिक परियोजनाओं में योगदान आदि)
  • सार्वजनिक मामले (कानून, सार्वजनिक जीवन, राजनीति आदि)
  • विज्ञान और इंजीनियरिंग (अंतरिक्ष इंजीनियरिंग, परमाणु विज्ञान, सूचना प्रौद्योगिकी, अनुसंधान और विज्ञान और उसके संबद्ध विषयों आदि में विकास शामिल है)
  • व्यापार और उद्योग (बैंकिंग, आर्थिक गतिविधियाँ, प्रबंधन, पर्यटन को बढ़ावा देना, व्यापार आदि)
  • चिकित्सा (आयुर्वेद, होम्योपैथी, सिद्ध, एलोपैथी, प्राकृतिक चिकित्सा आदि में चिकित्सा अनुसंधान, भेद / विशेषज्ञता शामिल है)
  • साहित्य और शिक्षा (पत्रकारिता, शिक्षण, पुस्तक रचना, साहित्य, कविता, शिक्षा का प्रचार, साक्षरता को बढ़ावा, शिक्षा सुधार आदि)
  • सरकारी सेवकों द्वारा सिविल सेवा (प्रशासन में भेद / उत्कृष्टता आदि)
  • खेल (लोकप्रिय खेल, एथलेटिक्स, साहसिक कार्य, पर्वतारोहण, खेल को बढ़ावा देना, योग आदि)
  • अन्य (जिन क्षेत्रों को ऊपर से कवर नहीं किया गया है, उनमें भारतीय संस्कृति का प्रचार, मानव अधिकारों का संरक्षण, वन्य जीवन संरक्षण / संरक्षण आदि शामिल हैं)

पद्म पुरस्कार के लिए कौन पात्र है? जाति, व्यवसाय, पद, लिंग का कोई भेद नहीं रखने वाले सभी व्यक्ति इन पुरस्कारों के लिए पात्र हैं। हालाँकि, सरकारी सर्वर जिनमें पीएसयू (डॉक्टर और वैज्ञानिकों को छोड़कर) शामिल हैं, वे इन पुरस्कारों के लिए पात्र नहीं हैं। पुरस्कार भेद के काम को पहचानना चाहता है और कला, सामाजिक कार्य, सार्वजनिक मामलों (कानून, सार्वजनिक जीवन, नीतियों आदि सहित), विज्ञान और इंजीनियरिंग, व्यापार और उद्योग, चिकित्सा, साहित्य और शिक्षा, के क्षेत्र में प्रतिष्ठित और असाधारण उपलब्धियां प्रदान करता है। सिविल सेवा, खेल और अन्य।

पद्म पुरस्कार के लिए प्राप्त सभी नामांकन पद्म पुरस्कार समिति के सामने रखे जाते हैं, जिसका गठन हर साल प्रधानमंत्रियों द्वारा किया जाता है। समिति का नेतृत्व कैबिनेट सचिव करता है और इसमें गृह सचिव और सदस्य के रूप में चार-छह प्रतिष्ठित व्यक्ति शामिल होते हैं। समिति की सिफारिशें प्रधान मंत्री और भारत के राष्ट्रपति को प्रस्तुत की जाती हैं।

पद्म पुरस्कार के लिए कौन पात्र हैं या नहीं? जाति, व्यवसाय, पद या लिंग के भेद के बिना सभी व्यक्ति इन पुरस्कारों के लिए पात्र हैं। हालांकि, डॉक्टरों और वैज्ञानिकों को छोड़कर, सरकारी कर्मचारी जिनमें पीएसयू के साथ काम करते हैं, पद्म पुरस्कार के लिए पात्र नहीं हैं।


Complete List of Padma Awards 2020 in English PDF Download for Bank, SSC, Railway and UPSC Exams

Complete List of Padma Awards 2020 : Download Free PDF


Previous Year Question Paper PDF

150+ RRB NTPC Previous Year Paper PDF (Hindi/Eng) UPSC IAS Previous Year Question Papers with Answers Key (2011-2019)
50+ IBPS RRB PO Previous Year Papers PDF – (2016-2018)  50+ IBPS RRB Office Assistant Previous Year Papers PDF – (2016-2018)

भारत में यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों की पूरी सूची एवं नोट्स – सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में

भारत में यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों की पूरी सूची एवं नोट्स - सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में

हम आशा करते हैं कि आपको यह पोस्ट पसंद आई है तो हमे सपोर्ट करने के लिए और बाकि लोगो की मदद के लिए इस पोस्ट को  फेसबुक, व्हाट्सप्प, टेलीग्राम एंड अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे।

आपकी परीक्षा के लिए शुभकामनाएं,

Team GS Special !!!

Print Friendly, PDF & Email